ताज़ा समाचार-->:
अब खबरें देश-दुनिया की एक साथ एक जगह पर-->

देश एवं राजनीति

अमेरिकी अख़बार ने कहा ट्रंप 11 हजार बार अब तक झूठ बोल चुके हैं

थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़

२३ जुलाई २०१९

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कश्मीर मुद्दे पर अमेरिका से मध्यस्थता की गुजारिश की थी।' अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के इस अप्रत्याशित दावे ने भारत की सियासत में हलचल मचा दी है। इस बयान से अमेरिका और भारत के संबंधों में अचानक से एक तनाव भी आ गया है। भारत सरकार ट्रंप के दावे को सिरे से खारिज कर चुकी है। मंगलवार को विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने राज्यसभा में भी साफ किया कि प्रधानमंत्री की ओर से ऐसी कुछ पेशकश नहीं की गई थी। ट्रंप की तरफ से पहली बार इस तरह का अप्रत्याशित बयान नहीं आया है। उनके बयान जब-तब अमेरिकी और बाकी दुनिया की राजनीति में हलचल मचाते रहे हैं। अमेरिकी अखबार 'वॉशिंगटन पोस्ट' तो ट्रंप के करीब 11 हजार 'झूठ' बता चुका है।


पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के साथ अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप।

अखबार की फैक्ट चेक टीम के अनुसार, ट्रंप ने कभी इस बयान को नहीं सुधारा। टीम के अनुसार नाटो की फंडिंग दो तरह से होती है। एक डायरेक्ट फंडिंग और दूसरा इनडायरेक्ट फंडिंग। डायरेक्ट फंडिंग, जिसमें सैन्य अभियान, रख रखाव और हेडक्वार्टर से संबंधित खर्चे शामिल होते हैं। इस तरह की फंडिंग सदस्य देशों के ग्रॉस नैशनल इनकम के आधार पर होता है। नाटो की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था होने के नाते अमेरिका सबसे ज्यादा 22 प्रतिशत हिस्सा देता है। जर्मनी दूसरे नंबर पर है और यह करीब 15% हिस्सा देता है। इनडायरेक्ट फंडिंग के तहत यह देखा जाता है कि किसी देश का रक्षा खर्चा उसका जीडीपी का कितना प्रतिशत है। नाटो सदस्यों ने 2022 तक 2 प्रतिशत जीडीपी का लक्ष्य तय कर रखा है। जर्मनी ने 2018 में अपनी जीडीपी का 1.23 प्रतिशत हिस्सा रक्षा पर खर्च किया। लेकिन यह पैसा नाटो को नहीं जाता है। अखबार के इस फैक्ट चेक के दावे के बाद अब कश्मीर के मुद्दे पर मध्यस्थता को लेकर दिए गए ट्रंप के बयान पर भी सवाल उठने लगे हैं।

बड़ा सवाल है कि क्या ट्रंप ने पाकिस्तान को खुश करने भरने के लिए यह बयान दिया है? भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने संसद में साफ किया कि पीएम नरेंद्र मोदी कश्मीर पर मध्यस्थता को लेकर ट्रंप से ऐसा कुछ नहीं कहा। उन्होंने कहा कि कश्मीर का हल द्विपक्षीय है। विदेश मंत्री ने साथ ही कहा कि आतंक के खात्मे के बाद ही पाकिस्तान से बातचीत होगी। ट्रंप ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने सोमवार को वाइट हाउस में मुलाकात के दौरान प्रेस के सामने दावा किया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उनसे कहा था कि वह कश्मीर में विवाद के निपटारे में मदद करें और उन्हें मध्यस्थता करने में खुशी होगी। हालांकि वाइट हाउस की तरफ से ट्रंप-इमरान मुलाकात को लेकर जारी प्रेस रिलीज में ट्रंप के कश्मीर के संबंध में बयान का जिक्र नहीं किया गया था।


वॉशिंगटन पोस्ट ने ट्रंप के ऐसे कई बयानों का फैक्ट चेक कर दावा किया है कि उनके कई बयान झूठे या फिर भ्रामक रहे हैं। अखबार ने 10 जून को प्रकाशित एक रिपोर्ट में लिखा है कि 7 जून तक ट्रंप ने बतौर राष्ट्रपति 869 दिन पूरे किए हैं और इस दौरान उन्होंने 10,796 झूठे या भ्रामक दावे किए हैं। वॉशिंगटन पोस्ट की फैक्ट चेकर्स टीम ने राष्ट्रपति ट्रंप के हर वैसे संदिग्ध बयानों का विश्लेषण किया जो उन्होंने दिए थे। अखबार ने दावा किया है कि ट्रंप ने राष्ट्रपति का कार्यभार संभालने के बाद से ही लगभग हर रोज करीब औसतन करीब 12 संदिग्ध दावे किए।


अखबार के मुताबिक राष्ट्रपति ट्रंप का हर पांचवां दावा आव्रजन और अपने हस्ताक्षर को लेकर किया गया था। इसके अलावा ट्रंप ने कुल झूठे या भ्रामक दावों में से करीब 10 फीसदी ट्रेड और रूस द्वारा 2016 के राष्ट्रपति चुनाव में हस्तक्षेप से संबंधित किए थे। ट्रंप के एक ही बयान पर कई दावे अलग-अलग थे। जर्मनी भी हो चुका है ट्रंप के बयान का शिकार! ट्रंप ने नाटो के मुद्दे पर एक बार कहा था, 'मैं कहना चाहूंगा कि जर्मनी ने ज्यादा कदम नहीं उठाए हैं। जर्मनी 1 प्रतिशत नाटो को देता है, उन्हें और ज्यादा हिस्सा देना चाहिए। हम इस 1 प्रतिशत पर सोचेंगे। हम जर्मनी की रक्षा करते हैं और तब जर्मनी हमसे ट्रेड पर फायदा उठाता है।'



जरा ठहरें...
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीन देशों की यात्रा पर रवाना
लालकिले की प्राचीर से प्रधानमंत्री की ललकार, हम न समस्याओं को टालेंगे न पालेंगे...!
सदन बहुमत से नही सर्वसम्मति से चलता है - लोकसभा अध्यक्ष
कश्मीर में खुलेंगे विकास के द्वार, जम्मू कश्मीर के लोग भावना को समझें! - पीएम
जम्म कश्मीर से धारा 370 खत्म, लोकसभा ने भारी मतों से किया पास
भाजपा “संगठन पर्व” कार्य़क्रम शुरू करेगी
मेरी वजह से आतंकी घटनाएं रुकी - मोदी
भाजपा अभी भी आप और कांग्रेस का इंतजार कर रही है...!
राहुल गांधी की चार पीढ़ियां गरीबी हटाओ का नारा देती रही लेकिन गरीबी नहीं मिटी - शाह
प्रधानमंत्री मोदी बोले, कांग्रेस ने उन्हें 12 सालों तक किया परेशान!
उत्तर प्रदेश में कोई सुरक्षित नहीं, जंगलराज है - कांग्रेस
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी कॉल ड्रॉप से हैं परेशान
वॉपकॉस ने 1110 करोड़ रुपये की अब तक सर्वाधिक आय अर्जित की!
राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण राजमार्गों पर 'हाईवे नेस्ट' नामक रेस्त्रा का संचालन करेगा
रेल इंजीनियरिंग की अद्भुत रचना है दुनिया का सबसे ऊंचा पुल
देश की सबसे बड़ी सुरंग देश को समर्पित, प्रधानमंत्री ने किया उद्घाटन
 
 
Third Eye World News
इन तस्वीरों को जरूर देखें!
Jara Idhar Bhi
जरा इधर भी

Site Footer
इस पर आपकी क्या राय है?
 
     
ग्रह-नक्षत्र और आपके सितारे
शेयर बाज़ार का ताज़ा ग्राफ
'थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़' अब सोशल मीडिया पर
 फेसबुक                                 पसंद करें
ट्विटर  ट्विटर                                 फॉलो करें
©Third Eye World News. All Rights Reserved.